डीएम की गाय के इलाज के लिए लगी 7 डॉक्टरों की टीम। सोशल मीडिया पर आदेश हुआ वायरल।

0
74

यूं तो आपने सुना होगा कि किसी अमीर इंसान के इलाज के लिए डॉक्टरों की टीम लगाई गई है। यह बात आपको इतनी आश्चर्यजनक नहीं लगती होगी। जितनी की एक गाय की देखभाल के लिए 7 डॉक्टरों की टीम लगाए जाने की है। यह बात सुनकर आप थोड़े से आश्चर्यचकित हुए होंगे।आपके चेहरे पर मुस्कान आ गई होगी।जी हां यह कोई मजाक नहीं है। यह मामला उत्तर प्रदेश के फतेहपुर के डीएम की गाय के देखभाल का है। जिसमें सोशल मीडिया पर एक आदेश वायरल हुआ है। दिए गए आदेश के अनुसार जिलाधिकारी महोदय गाय की सेवा के लिए 7 डॉक्टरों की टीम लगाई गई है। 9 जून को आया था इसके बाद यह आदेश सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। सोशल मीडिया यूजर्स इस आदेश को पढ़कर लगातार अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

क्‍या कहा  गया है आदेश में।

कार्यालय मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी फतेहपुर के द्वारा दिए गए आदेश के अनुसार जिलाधिकारी महोदय की गाय की चिकित्सा करने हेतु 7 डॉक्टरों की ड्यूटी लगाई जाती है। प्रत्येक डॉक्टर की ड्यूटी सप्ताह के 1 दिन रहेगी। 7 डॉक्टरों के नाम कुछ इस प्रकार है- डॉक्टर मनीष अवस्थी, डॉ उमेश कुमार, डॉ अनिल कुमार, डॉ अजय कुमार दुबे,डॉ शिव स्वरूप, प्रदीप कुमार, डॉ अतुल कुमार। इसके साथ ही आदेश में यह भी कहा गया है कि डॉक्टर दिनेश कुमार अति पशु चिकित्सा अधिकारी संबंधित पशु चिकित्सा अधिकारी से समन्वय स्थापित कर प्रतिदिन सुबह-शाम देखने की सूचना कार्यालय में शाम 6:00 बजे तक देंगे। इसके साथ इसके साथ डॉक्टरों को चेतावनी भी दी गई है किसी भी पशु चिकित्सा अधिकारी की अनुपस्थिति में उस दिन का कार्य डॉ सुरेश कनोजिया पशु चिकित्सा अधिकारी दानापुर करेंगे। उक्त कार्य में शिथिलता अक्षम्‍य है।

डीएम ने क्‍या कहा-

इस आदेश के वायरल होने के पश्चात फतेहपुर की डीएम अपूर्वा दुबे का कहना है कि यह आदेश मनमाने ढंग से पारित किया गया है। और आदेश पारित करने वाले पर कार्यवाही की जाएगी। उनका कहना है कि इस संबंध में कोई आदेश जारी नहीं किया गया।कार्यवाहक सीवीओ ने मनमाने तरीके से आदेश किया है। आदेश की जांच कर उसे निरस्त किया गया है।उन्हें आदेश की प्रतिलिपि भी नहीं भेजी गई है। षड्यंत्र और दूषित मानसिकता से काम किया गया है। उनका कहना है कि यह मामला ट्विटर के माध्यम से उनके संज्ञान में आया था।

uppsc pre paper 2022 pdf download